Breaking News

शिक्षक

शिक्षक 

है नहीं साधारण, वह तो एक शिक्षक है। 
असाधारण गुणों से भरा, हां वह एक शिक्षक है। 
असीम शक्ति, ऊर्जा से भरपूर।
नित नये प्रयोगों से संवारता नन्हा भविष्य।
हां वह एक शिक्षक है।
भरता अपनी ऊर्जा, ज्ञान, कौशल, नन्हे -नन्हे हृदय, मस्तिष्क में। 
जूझता, गिरता, संभलता, उठता 
पर कभी न हारता।
क्योंकि वह एक शिक्षक है।
चलता मीलों कर्तव्य पथ पर 
डगमगाता, पर न डिगता।
रचता भविष्य, संवारता आज 
बदल देता परिदृश्य,
करता मंथन, आत्म चिंतन 
अद्भुत, अकल्पनीय, ढेरों प्रयत्न। करता कुशल प्रबंधन।
निकालता शब्दकोष से अपने, 
दुष्कर, दुरूह, कठिन,
और जोड़ता-संभव, सरल, सुगम जैसे नित शब्द नवीन।
संभावनाओं के आकाश पर,
लिखता, मिटाता इबारतें।
हासिल हैं उसे महारतें।
हां वह एक शिक्षक है।
देखी न अपनी पीड़ा, उठा लिया है बीड़ा,
प्रचार का, प्रसार का 
देश के विकास का।
करता अपने शिक्षक को नमन 
अर्पित उन्हें श्रद्धा सुमन।
देश हित समर्पित तन व मन।
शिक्षक वृन्द को नमन।

✍️
सीमा पाण्डेय
पू.मा.वि. बरहुंआ
वि.क्षेत्र - पिपरौली
जनपद - गोरखपुर 

No comments