Breaking News

Showing posts with label दोहे. Show all posts
Showing posts with label दोहे. Show all posts

गुरु की महिमा

July 10, 2017
सत्य सनातन श्रेष्ठ है, सकल सृष्टि का सार। गुरु चरणों में स्वर्ग है, वंदन बारम्बार।१। जीवन दुर्गम जलधि सम, भ्रमित फिरें नर-नार। गुरु ...Read More

हिंदी की महत्ता और वर्तमान में उसकी दुर्दशा का उल्लेख करते कुछ दोहे

September 14, 2015
आज प्रतीकात्मक रूप से मनाये जाने वाले हिंदी दिवस के दिन हिंदी की महत्ता और वर्तमान में उसकी दुर्दशा का उल्लेख करते कुछ दोहे। हिंदी हिन...Read More

आशुतोष अवधूत शिव

February 16, 2015
महाशिवरात्रि की असीम शुभकामनायें आशुतोष अवधूत शिव, हर हर भोलेनाथ। गौरीपति, मर्दन मदन, बंदउँ पद, धरि माथ।। गुणातीत, करुणासदन, हर लो जग...Read More

दोहे

January 27, 2015
विपदा के दिन भी भले, रहते हैं दिन चार हित-अनहित का भेद दें, सिखायें जगत सार अंखियन की आशायें ,लखे सहज मनमीत हृदय सुनाये क्यों वही, विर...Read More

विविधरंगी दोहे

January 22, 2015
रतनारे लोचन सजल, हृदय अनकही पीर। बिन प्रियतम लू सम लगे, शीतल मंद समीर।। नैन छबीले बावरे, साजन बिन बेचैन। सुधि आवत भीगत हिया, बरसत हैं ...Read More