Breaking News

"मै नारी हूं"

October 28, 2020
"मै नारी हूं" गुरुर है मुझे कि मैं नारी हूं, ईश्वर की अद्भुत कलाकारी हूं, स्वाभिमान को जिसके पुरुष ना काट पाए, ऐसी तीखी कटारी हूं।...Read More

मजबूरी

October 22, 2020
मजबूरी एक घनघोर झंझावात है मज़बूरी मजबूरी का कोई मौसम नहीं कब कहां किस मोड़ पर पकड़ ले दामन कोई जानता नहीं । पर क्या करें,,, इस बेहिसाब बेरं...Read More

चंचल मन

October 22, 2020
चंचल मन मंजिल की है कई डगर, कुछ आने की कुछ जाने की।  कुछ मन बीती भी तो जानो, ।। हर बात नहीं समझाने की ।।  वो झिलमिल उपवन में देखो,  जब कोयल ...Read More

'और कब तक'

October 22, 2020
'और कब तक' कहोगे बातें पुरानी और कब तक। बरसेगा आंखों से पानी और कब तक। दो पक्षी एक डाल पे आये तो थे, साथ जीने की सौगंध खाये तो थे, फ...Read More

उम्मीदें

October 14, 2020
उम्मीदें -------- शेष  मैं ही तो बचा हूं आज शायद नहीं ! तुम्हें तो विश्वास भी नहीं होगा मेरे  खोखले शरीर से तुम्हें खोखली आवाज़ ही सुनाई देग...Read More

बागी

October 12, 2020
बागी              हाथ की रेखाएं,  नहीं बदल सकी मेरी तकदीर  मैंने हाथ की रेखाओं को, बदल डाला...........  मैंने अपनी तकदीर बदली  आज खुश हूं पर...Read More

कल और आज

October 12, 2020
कल और आज कहाँ गया वह धोती कुर्ता छाता छड़ी सलोनी। खूब पढ़ाते थे मुंशी जी हमने सुनी कहानी।। अद्धा पौना डेढ़ा पौवा ढउचा और सवाई। रत्ती मासा धरा प...Read More

मेरी बिटिया

October 11, 2020
आज बेटी दिवस पर मेरी कविता के साथ आप सबको नमन मेरी बिटिया अनुपम छवि ,आह्लादित मन, वट वृक्ष की शाखाओं जस इतराती। कोमलांगी,किसलय कली,  मेरी बि...Read More

अमिट पहचान

October 09, 2020
  अमिट पहचान ➖➖➖➖➖ जीवन की इस कठिन डगर को, अन्तर्मन ही जानें। सभी रंग हैं एक ही जैसे, ।। कौन किसे पहचाने ।। सागर का हर एक किनारा, खींचे अपनी...Read More

" उड़ गया पंछी "

October 08, 2020
" उड़ गया पंछी " उड़ गया मोहब्बत का पंछी गयी बहार दिल के चमन से न इंतज़ार मेरा अब कोई न कोई शिकायत रही तुझसे दफन कर आया सब वादे जो कि...Read More

ग़ज़ल

October 08, 2020
ऐ जिन्दगी अब कैसे करूँ तेरा शुक्रिया.. गमों के सफर को तूने थमने न दिया। जब भी उसे चाहा मैंने तुझसे भी ज्यादा... पुराने ज़ख्मो को तूने फिर से ...Read More

""खोयी मनुजता""

October 04, 2020
""खोयी मनुजता"" खो गई है संवेदना, खो गई है चेतना, खो गया है अपनापन, खो गई है भावना। स्वार्थ है चहुं दिस , मनुजता कहीं नह...Read More

हमारा हिंदुस्तान

October 04, 2020
हमारा हिंदुस्तान तीन रंग में रंगा हुआ, अपना हिंदुस्तान है। केसरिया, श्वेत ,हरा  तिरंगा इसकी शान है।  गर्व है हमें भारत मां पर, जो शूरवीर की ...Read More

नेपथ्य

October 02, 2020
नेपथ्य ऐ सड़क तू कभी थकती नही,     न सोती ,न जगती,      न खाती, न पीती। चलती है पल-पल,अनवरत,निरन्तर। ऐ सड़क......... काट के जन-मानस, तरु की शा...Read More

ई-पाठशाला

October 02, 2020
ई-पाठशाला सेहत शिक्षा दोनों जिसमें, हम ऐसी शाला लाये हैं। नहीं खुले स्कूल तो क्या, हम ई-पाठशाला लाये हैं।। धन्य हैं अधिनायक अपने, क्रांति की...Read More

ख्वाहिशें

October 02, 2020
ख्वाहिशें ------------ बचपन  की  ख्वाहिशें  आज  भी  खत लिखती हैं  मुझे.. शायद  वो बेखबर  इस बात  से हैं कि  वो जिंदगी  अब  इस पते पर नही रहत...Read More

सत्य अहिंसा

October 01, 2020
सत्य अहिंसा सत्य है तो सत्य का प्रयोग होना चाहिए। अहिंसा वही है कोई नहीं रोना चाहिए।। उदर पूर्ति भी रहे रक्षा भी स्वाभिमान की, ब्योम तक लहरा...Read More