Breaking News

रणछोड़

"रणछोड़"

कोरोना वायरस के विरुद्ध इस युद्ध में एकांत ही हमारी राष्ट्रभक्ति, राष्ट्र के प्रति समपर्ण और योगदान है। घर पर ही रहें और राष्ट्र व स्वयं को सुरक्षित करने में अपना योगदान दें।

आज विश्व बना है रणक्षेत्र
पर ये युद्ध नहीं हथियारों का
राष्ट्र कह रहा है तुमसे
ये समय है रणछोड़ कहलाने का

रण में आया जो कालयवन
वो सुदर्शन से नही मर सकता
बस एकांत की अग्नि से 
वध उसका संभव हो सकता

यदि लोक हित की रक्षा में
स्वयं पालनहार रण छोड़ सकते हैं
फिर क्यों राष्ट्र हित की रक्षा में
हम रणछोड़ नही बन सकते हैं?

यदि राष्ट्र हित में कुछ करना है
आज चलो तो मुचकुन्द बनजाएं
एकांत की अग्नि में जलाकर
कालयवन पर पंचम लहरायें

✍️
चंद्रहास शाक्य, स0अ0
प्रा0वि0 कल्यानपुर भरतार
ब्लॉक-बाह
जनपद-आगरा

No comments