Breaking News

सफल तुम्हे है होना

सफल तुम्हे है होना
सफल तुम्हे है होना,
जीवन के झंझावातों से मत निराश होना।
पाना है लक्ष्य तुम्हें
जीवन पथ पर चलते रहना।

लड़ते रहो अगर तम से ,
निश्चित हा सूरज का मिलना।
साक्षी है इतिहास
ध्रुव का ईश्वर से मिलना।
भागीरथ प्रयास,
गंगा का प्रथ्वी पर आना

मित्र मेरे न हो निराश ,
मन में सदैव भरो विश्वास
दुःख के छोटे पल भी क्या कटते है,
खुशियों की सदियॉ भी कम लगते है।
रखे याद सत्यमेव जयते वेदों का है कहना।
इन छणिक अवसादों से क्या डरना।।
सफल तुम्हे हैं होना।

जीवन के झंझावातों से मत निराश होना
लड़ते रहना तूफानों से आस कभी मत खोना।

रचयिता
सन्तोष कुमार राव,
पू0मा0वि0 मरहठा,
कैम्पियरगंज, गोरखपुर।

No comments