Breaking News

योग गंगा में नहाएं

योग की गंगा बही रे चली जाय
सब नहा लो आय,
सब लोग कर लो आय
गहरी सांस भरो और गहरी सांस छोडो
तीन मिनट तक भस्तिका प्राणायाम कर लो
फेफडो को लो शुद्ध बनाय
सब नहा.........

खाली पेट, पेट मे स्ट्रोक मारो
पन्द्रह मिनट कपाल भाँति कर लो
मधुमेह मोटापा दूर भगा लो
चेहरे को अपने लेव चमकाय
सब नहा लो आय

मुट्ठी से मुट्ठी मिलाओ, अंगूठे से अंगूठा
दो हाथ सामने फैला लो
अपने हृदय की मालिश करा लो
हृदयाघात से लेव बचाय
सब कर लो आय

दाएँ हाथ से दाहिना नासिका द्वार बन्द कर लो
बायीं नासिका से गहरी सांस भर लो
थोड़ी देर फिर सांस रोक लो
दायी नासिका से फिर देव निकाल
अनुलोम - विलोम प्राणायाम है ये
नाडी शोधन का अच्छा उपाय
सब नहा लो आय

भ्रामरी, उद्‌गीथ मे ऊँ नाद होता
मन की चंचलता जो दूर करता
अवसाद से छुटकारा मिलता
प्रणव ध्यान मे अपने को दो रमाय
सब कर लो आय

बाह्य प्राणायाम मे तीन बन्ध लगा लो
जालन्धर बन्ध, उड्यान बन्ध, मूल बन्ध
ये तीनो याद कर लो
नौलि क्रिया इसके साथ ही कर लो
उदर गत समस्या फिर न रहने पाय
आओ सब लेव.........

हिचकी जैसी आवाज गले से निकालो
थायराइड बीमारी को दूर भगा लो
गले सम्बन्धी विकृतियों से छुट्टी मिल जाय
आओ सब लेव नहाय

आठ प्राणायाम और बारह आसन
बारह सूक्ष्म व्यायाम हैं प्यारे
इन से मिलते जीवन के सुख सारे
बाबा रामदेव जी ने दिया पैकेज बनाय
सब कर लो आय, सब नहा लो आय

रचनाकार
सारिका तिवारी, प्र0अ0,
उ0प्रा0वि0 फुलवामऊ,
वि0क्षे0 बहुआ,
जनपद फतेहपुर

No comments