Breaking News

हिन्दी है हम

हिन्दी है हम

अंग्रेजी बोली हिन्दी से, तुझे मिला कितना सम्मान।
पूरी दुनिया में तू छाई, लेकर आई नई पहचान।
प्राचीन समृद्ध और सरलता की तू है अनोखी खान।
अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति तूने है पाई, मिला राष्ट्रभाषा का मान।
वर्ष में एक दिन तुझ पर अर्पित, 14 सितम्बर है वह दिन महान।
आसानी से समझ में आती, कश्मीर से कन्याकुमारी तक है तेरी शान।
मैंने(अंग्रेजी) पांव गड़ाए, लेकिन मिटा न पाया तेरा अस्तित्व महान।
बुलंदियों पर तू जा पहुँची, और मैं ताक रही खुला आसमान।
हे हिन्दी! तुझको नमन, तुझसे ही है हिन्दुस्तान।

✍️
प्रेमलता विश्वकर्मा(AT)
पूर्व माध्यमिक विद्यालय हुलासखेड़ा
मोहनलालगंज लखनऊ

No comments