Breaking News

नारी शक्ति

*नारी शक्ति* 

नारी ही सबकी माता। 
नारी ही है भाग्य विधाता।।
प्रेम का आगाज है ये। 
जीवन की शुरूआत है ये।। 
खुशियों का संसार है ये। 
जीने का आधार है ये।। 
आन बान और शान है ये। 
समाज की पहचान है ये।। 
सृष्टि की जननी है ये। 
रौद्र रूप की गजनी है ये।। 
भक्ति की सूरत है ये।
त्याग की मूरत है ये। 
ममता का भी रूप है ये 
शक्ति का स्वरूप है ये।। 
जीवन की छाया है ये। 
मोहभरी माया है ये।। 
सुरभित बनमाल है ये। 
जीवन की ताल है यें।। 
स्नेह, प्रेम, करूणा का  सागर है ये। 
शक्ति और ममता का गागर है ये।। 
नारी सशक्तिकरण करना ही होगा। 
है सबसे अनुरोध यही ।। 
नारी का सब सम्मान करो। 
ना कभी इसका अपमान करो।।

✍️
मो०जियाउल हक अंसारी (प्र०अ०) कम्पोजिट विद्यालय
सजीवन वि०क्षे०-बाँसगाँव, जनपद-गोरखपुर
(ए0आर0पी0 हिन्दी - खोराबार, जनपद-गोरखपुर )

No comments