Breaking News

है नमन तुझे

है नमन तुझे नमन 
है नमन तुझे नमन
हाँ भारत की अस्मिता पे
तन मन मेरा अर्पण

है नमन तुझे नमन
है नमन तुझे नमन
हाँ सारे जग को तू दे बोल
तेरी आन है अनमोल

है नमन तुझे नमन
है नमन तुझे नमन
रक्षकों के झुंड हैं
शमशीर न अब कुंद है

है नमन तुझे नमन
है नमन तुझे नमन
खुद को तू तैयार कर
जिस भी विधा से वार कर
भेदको को ओट लेंगे
द्वार चाहे जीतने खोल

है नमन तुझे नमन
है नमन तुझे नमन
हाँ भारत के अस्मिता पे
तन मन मेरा अर्पण
हाँ अंत ना आगाज है
भारत की ये आवाज़ है

है नमन तुझे नमन
है नमन तुझे नमन
शांति ही अपना आधार है
ना मानो तो अरि दमन हेतु हम 
तैयार हैं
निज स्वार्थ तज, पर हित में
हम सीचेगे इक चमन

है नमन तुझे नमन 
है नमन तुझे नमन
हाँ भारत की अस्मिता पे 
तन मन तुझे अर्पण
          
          ✍️
           नूतन शाही, स.अ.
           प्राथमिक विद्यालय बेलवार
           खोराबार गोरखपुर

No comments