Breaking News

नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन

नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन


अधरो पर मंदम मुस्कान लिए,
नयनों में सुनहरे ख्वाब सजाएं,
सारे गिले - शिकवे भुला,
उमंग उत्साह उल्लास लिए
खड़े लिए रोली चन्दन।
नव वर्ष तुम्हारा अभिनन्दन।।

नई उम्मीद नए लक्ष्य बनाए,
मन में आशा और विश्वास लिए,
जग में सुख - शांति रहे,
सजल नयनों से बिता वर्ष,
चहुंओर मचा जन - जन में क्रंदन।
नव वर्ष तुम्हारा अभिनन्दन।।

आपस में हो भाई - चारा,
सारे धर्मों का सम्मान रहे,
करना पड़े जो भी जतन,
भारत हमारा महान रहे।
ईश तुम्हारी चरणों में,
रवि करे सदा बंदन,
नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन।।

कल - कल छल - छल,
स्वच्छ निर्मल,
बहता रहे सदा गंगा जल,
नवल रश्मि का प्रकाश पुंज,
फैलाए जग में उजियारा,
पुष्प वाटिका खिली रहे,
भवरें करें हर पल गुंजन।
नव वर्ष तुम्हारा अभिनंदन।।

मानवता की रक्षा खातिर,
त्याग तपस्या और समर्पण,
मन में लिए हो सब भद्र जन,
स्वस्थ निरोग रहे तन - मन,
जग में ना कोई निरीह रहे,
ना सुनाई दे दु:ख का रुदन।
नव वर्ष तुम्हारा अभिनन्दन।।

✍️
रवीन्द्र नाथ यादव (स.अ.)
प्राथमिक विद्यालय कोडार उर्फ बघोर नवीन
क्षेत्र - गोला,गोरखपुर

No comments