Breaking News

प्रेरणा साथी

प्रेरणा साथी

प्रेरणा लक्ष्य करना है, हासिल,
बच्चो को बनाना है काबिल।
हम दूर हुए उनसे तो क्या,
प्रेरणा साथी को कर लिया इस मिशन में शामिल।
हम उनको बतायेंगे, एक-एक बात सिखायेंगे।
उनकी बातों में हम होंगे, उनमें जायेंगे हम मिल।
शिक्षक है हम, शिक्षक की गरिमा को, 
नहीं करेगें हम धूमिल।
लेकर उनका साथ, डाल हाथों में हाथ।
रास्ता दिखाकर उनको ज्ञान का,
हम शिक्षक पायेंगें अपनी मंजिल।
जब बच्चे बन जायेंगे काबिल,
समझो हो गये प्रेरणा लक्ष्य हासिल।

✍️
प्रेमलता विश्वकर्मा(AT)
पूर्व माध्यमिक विद्यालय हुलासखेड़ा
  मोहनलालगंज लखनऊ

No comments