Breaking News

बारिश

बारिश

ये रिमझिम सी बारिश, 
ये टिप टिप सी बारिश, 
ये दिन भर बरसना, 
और दिन भर गर्जना।
अच्छा लगता है मुझे।। 
ये मिट्टी की खुश्बू, 
ये सौन्धी सी खुशबू, 
ये अच्छी सी खुश्बू, 
और मिट्टी मे फिसलन। 
अच्छा लगता है मुझे। 
ये मेढ़़क का टर्र टर्र, 
ये हवाओं का फर्र फर्र, 
ये फिजाओं मे सर्र सर्र, 
और घटाओं में हलचल। 
अच्छा लगता है मुझे।।
वो कागज की कस्ती, 
वो बारिश मे मस्ती, 
वो घटाओं की मस्ती, 
और बचपन की यादें। 
अच्छा लगता है मुझे।।

मो0जियाउल हक
प्र0अ0 कंपोजिट विद्यालय सजीवन, क्षेत्र-बांसगांव, गोरखपुर
(ARP हिन्दी, खोराबार)
(गोरखपुर)

No comments