Breaking News

आओ मिलकर आगे बढ़ें

आओ मिलकर आगे बढ़ें
*******************
आओ मिलकर आगे बढ़ें,
समता का दीप जलायें हम ।
भारत को खुशहाल बनायें,
एकता का पाठ पढ़ायें हम ॥
   नेक कर्म से आये हम हैं,
   जाने फिरसे कहाँ जायेंगे ?
   सुधारें अपने इसी जन्म को,
    जाने आगे जन्म क्या पायेंगे ?
ईश्वर ने रचना की सबकी,
रुप रंग सब एक दिया है ।
हम सब हैं उसके ही बन्दे,
नहीं कभी मतभेद किया है ॥
   फिर मिलकर जागृत हों ,
   स्वयं ही सन्मार्ग बताये हम ।
   ममता के भाव से आगे बढ़ें,
   मानवता को दिखलाये हम ॥

✍️
  रवीन्द्र शर्मा
  जनपद- महराजगंज, उ०प्र० ।

No comments