Breaking News

llनही अब सोने की चिड़ियाll


llनही अब सोने की चिड़ियाll

हमें था इतना जो गुमान
मिलता था सबको सम्मान
नहीं अब सोने की चिड़िया

बनें हिन्दू कोई मुसलमान
भटकता है देखो इंसान
नहीं अब सोने की चिड़िया

नहीं है प्रेम ना है यशगान
खुदी पर है सबको अभिमान 
नही अब सोने की चिड़िया

कहीं अल्लाह कहीं भगवान
कहे कोई हैं ईसा महान
नहीं अब सोने की चिड़िया

घटे ईमान और सम्मान
बुराई हो रही बलवान
नहीं अब सोने की चिड़िया

बदलता देखो हिन्दुस्तान
अमन का ना कोई स्थान
नहीं अब सोने की चिड़िया


✍️रचयिता
दीपक कुमार यादव
प्रा.वि.मासाडीह
विकास खण्ड-महसी
जनपद-बहराइच
मो•9956521700

1 comment: