Breaking News

माँ

माँ वन्दन है अभिनंदन है,मनुहार तुम्हारे चरणों में।
सारी खुशियाँ तुमने ही दीं,आभार तुम्हारे चरणों में।।
जो भक्त कष्ट से पीड़ित हैं,तुम उनके सारे दुख हरती।
तुम ही मेरी अम्बे माता,खुशियों से हर आंगन भरती।।
भक्तों का हर सपना होता,साकार तुम्हारे चरणों में।
सारी खुशियाँ तुमने ही दीं,आभार तुम्हारे चरणों में।।
सारे जग में दुख ही दुख है,तुम दुख को हरने वाली हो।
माँ अद्भुत अनुपम है महिमा,तुम सुख बरसाने वाली हो।।
मेरे जीवन को मिलता है,आकार तुम्हारे चरणों में।
सारी खुशियाँ तुमने ही दीं,आभार तुम्हारे चरणों में।।
माँ तुमको यह जीवन अर्पण,तुमसे ही नैतिक मूल्य मिले।
तुमने ही मुझको पाला है,तुमसे ही उपवन फूल खिले।।
जीवन है धन्य सुधरने के,आसार तुम्हारे चरणों में।
सारी खुशियाँ तुमने ही दीं,आभार तुम्हारे चरणों में।।
विधा - राधेश्यामी छंद
नाम - सुनील कुमार _'नवोदित'_
पिता - श्री शंकर प्रसाद द्विवेदी
माता - श्रीमती पंकज कुमारी द्विवेदी
पता - 76,स्पासा परिवार,शिवनगर पोस्ट मानिकपुर,जनपद चित्रकूट,पिन- 210208
नौकरी- प्राथमिक शिक्षक (परिषदीय)
संपर्क दूरभाष- 09161842470 (व्हाट्सएप), 07753023513
ईमेल पता- navoditji@gmail.com
फेसबुक पता-
www.fb.com/sunilnavodit12
www.fb.com/navoditvichar

No comments