Breaking News

एक सफल बेटा

"बड़कू अब तो आ जाओ"(एक सफल बेटा)

                    _एक व्यक्ति हॉस्पिटल में ज़िन्दगी और मौत की जंग लड़ रहा था।वो लगातार अपनी पत्नी से कहे जा रहा था, कि बड़कू से कह दो 'अबकी तुम्हारे पापा लम्बा वाला बीमार पड़े हैं, अब तो मिलने आ जाए वो, हमेशा कहता था,'अरे पापा आप को भगवान न करें कोई बीमारी हो, अगर कभी ऐसा हुआ तो 'ये *बड़कू* आपके लिए पूरी दुनिया छोड़ कर आ जाएगा,'आज चार दिन हो गए आना चाहिए ये कह बेहोश हो गया, होश आया तो वो व्यक्ति पास बैठी पत्नी को पास बुलाकर कुछ कान में कहता हैं, तभी पत्नी ज़ोर से चिल्लाते हुए ,'आया तो था बड़कू पर आप सोए थे,देर तक बैठा था चला गया'कह कर जा कर कोने में बैठ गई और पति भी आंख बन्द कर सो गया।कुछ देर बाद पत्नी की आंख खुली तो देखी पति बहुत खुश नज़र आ रहा था पत्नी पास जा कर पूछी क्या बात है?'तुम इतना खुश क्यों नज़र आ रहे हो'। पति 'अरे अभी बड़कू आया था,'बहुत देर तक पास बैठा था। मेरे सर पर हाथ रखा और रो रहा था,मेरी इस हाल पर..,'तुम सो रही थी रात भर जागी जो थी जगाने को मना किया, और चला गया.. इतने में स्क्रीन पर चल रही लाइने सीधी हो गई पत्नी बस आंख बन्द किए उस ' बड़कू ' को याद कर रही थी,जो दोनों के सोने में ही आकर हाल चाल लेकर चला जाता।अब तो हमेशा के लिए पति सो गया अब तो *बड़कू* को आना चाहिए,ये तसल्ली दे चिल्ला- चिल्ला रोने लगी कि ' बड़कू ' "अब तो आ जाओ"।

✍️अब्दुल्लाह ख़ान (स.अ.)
प्राथमिक विद्यालय बनकटी
बेलघाट, गोरखपुर

No comments