Breaking News

सीख

दिन निकला हम नींद से जागे,
सूरज देख अँधियारा भागे।                                          
उठो उठो बेटा माँ जब बोली,
हम बच्चों ने आँखे खोली।।

स्वच्छ हवा में घूमने निकले,
योगा करते क्रीडा करते।   
मुंह धोकर के मंजन करते,  
मंजन करके कुल्ला करते।

रोज नहाकर स्वच्छ है रहते,  
अपने काम स्वयं है करते।  
माँ पुकारती राजा बेटा,    
बेटी प्यारी प्यारा बेटा ।।

आओ खाओ जाओ स्कूल, 
पढना मन से लगन से खूब।    
काॅपी किताब बैग में रखकर, 
टाइम से पहुँचो स्कूल ।।

 

ईश वंदना राष्ट्रगान व,                 
राष्ट्रगीत गा शपथ भी ली।              
स्वस्थ रहेंगे स्वच्छ रखेंगे,
वातावरण को सीख भी ली ।।

सभी पढें और सभी बढें,           
सब स्वस्थ रहें जीवन पथ में।             
नैमिष यही कामना करती,                  
भरें रंग निज जीवन में ।।



रचनाकार : 
              ✍  श्रीमती नैमिष शर्मा
                    सहायक अध्यापक
                    पूर्व माध्यमिक विद्यालय तेहरा 
                    जनपद - मथुरा

No comments