Breaking News

मां वीणा पाणी

मां वीणा पाणी🕉️
   
जय जय जय जननी सरस्वती!
जगतपिता ब्रह्मा सबके, हम सब तेरी संतति।
जय जय जननी सरस्वती।
जन-जन में तुम प्राण फूंकती, नवजीवन तुम देती हो।
अधरों पर मुस्कान सदा है सब संकट हर लेती हो।।
तुम सर्वत्र विचारिणी।
जय जय जननी सरस्वती।

शत शत नमन तुम्हें है देवी, यह ममता अज्ञानी है।
वीणा वादिनी वर दे हमको, आए शरण तिहारी हैं।।
तू भवसागर से उबारती।
जय जय जननी सरस्वती।

✍️
ममताप्रीति श्रीवास्तव (प्रधानाध्यापक)
 गोरखपुर, उत्तर प्रदेश

No comments