Breaking News

कृष्ण जन्मोत्सव की धूम

सजी है सारी नगरी, मथुरा धाम प्रभु।
प्रातः दर पर दर्शन कर, करें काम शुरु।।

आज के दिन जब जन्म लिया, जन्माष्टमी को।
सो गए पहरेदार, हुई लीलाएं शुरु।
सोगए पहरेदार, हुई लीलाएं शुरु।
वासुदेव पित सूप में ले, चल दिए सुदूर।।
प्रातः दर पर दर्शन कर, करें काम शुरु।।

सजी है सारी नगरी, मथुरा धाम प्रभु।

मथुरा में आतंक कंस का, अपार हुआ।
देवतुल्य मानव जीवन, दुश्वार हुआ।
देवतुल्य मानव जीवन, दुश्वार हुआ।
जन्म यहाँ ले पहुँचे, गोकुल धाम प्रभु।।
प्रातः दर पर दर्शन कर, करें काम शुरु।।

सजी है सारी नगरी, मथुरा धाम प्रभु।

नंद यशोदा घर आनंद, अपार हुआ।
कृष्ण जन्म सुन, वृजमण्ड़ल जयकार हुआ।
कृष्ण जन्म सुन, वृजमण्ड़ल जयकार हुआ।
बजी बधाई गाऐं भक्त, गुणगान प्रभु।।
प्रातः दर पर दर्शन कर, करें काम शुरु।

सजी है सारी मथुरा नगरी, धाम प्रभु।
प्रातः दर पर दर्शन कर, करें काम शुरु।।

          रचियता-
      श्रीमती नैमिष शर्मा
    पू०मा०विद्यालय - तेहरा
   विकास खण्ड/जनपद-मथुरा

No comments