Breaking News

आस

February 10, 2016
जीने की आस हो तुम, प्रेरणा का स्रोत हो तुम। आदि हो,अनंत हो, जीवन का खेल हो तुम। वर्तिका हो ,उजाला हो, जीने का सहारा हो तुम। जीने क...Read More

दिल फिर से बसाया है

December 16, 2015
बहुत वीरान था ये दिल इसे फिर से बसाया है तुम्हारी चाहतों से ही ये गुलशन जगमगाया है गुलों की बेरुखी से ख़ार ग़म में डूब जाते हैं यही वो प...Read More

पढाई का नाटक

November 20, 2015
             सरकारी प्राइमरी स्कूल एक ऐसी जगह है जहाँ पढ़ाई होने का नाटक रोज होता है और वर्षों से यह क्रम अनवरत जारी है शिक्षा विभाग इस नाट...Read More

तितली के रंग

November 14, 2015
बचपन की प्यारी  ताज़गी का ढंग अभी बाकी है लम्हों में उनके जिंदगी का संग  अभी बाकी है खो जाये न कहीं बचपन-सुकून-सपनों के बगीचे नन्ही हथे...Read More

रोशनी का त्योहार

November 12, 2015
रोशनी होती दिलों में हमेशा प्यार से मिटायें हर ग़म का अंधेरा संसार से बेबसी के आँसू नही हों किसी आँख में सीखते हम यही रोशनी के त्योहार ...Read More