Breaking News

पिछला सब कुछ .......

January 05, 2015
पिछला सब कुछ भुला दे रहा हूँ मैं ज़ख्मों को अपने छुपा दे रहा हूँ बीती बातें अकेले में कचोटती हैं मुझको मैं सच सच तुम्हे सब बता दे रहा ...Read More

औरत का हिस्सा

January 05, 2015
औरत जाँत पर रखा दाना है पिसती है लगातार पिसती है घुटती है लगातार घुटती है अपनी सारी ताकत लगा देती है जाँत से बाहर आने को पर अथाह बोझ क...Read More

साथी

December 20, 2014
बीच सफ़र में साथ छोड़ दे उस साथी की चाह नहीँ प्रेम हमारा ऐसा हो जिसकी कोई थाह नहीँ बाहे जिसकी घर बन जाए बातें जिसकी खजाना हों प्...Read More

चन्दन की खुशबू

December 19, 2014
चन्दन को आज की सुबह बहुत अच्छी लग रही थी क्योकि आज पहली बार ऐसा हुआ था कि उसके पिता जी उसे न सिर्फ सड़क तक छोड़ने आये बल्कि आज घर में भी उ...Read More