Breaking News

ज्ञान दीप है हमें जलाना

बाल कुसुम  पल्लवित,
सुवासित विद्यालय  में;
स्पर्श स्नेह दे ज्ञान दीप
है    हमें     जलाना ।।

विद्यालय  बगिया   है ;
हम शिक्षक  हैं  माली।
चुन चुन विद्या के पौधे
है      हमें     लगाना।।

किलकारी गूंजे, उन्नति
हो  और   प्रगति   हो।
विद्या   के   बल     से
निर्माण राष्ट्र में लाना।।

हम    शिक्षक ,  कर्तव्य
जो अपने उन्हें निभाना ।
उन्नति पथ पर  अग्रदूत
बन   बढ़ते      जाना।।

राम,  कृष्ण,  गांधी  जी
के   सपनों  का  भारत ;
हम   सब    को   मिल
एक साथ साकार बनाना ।।

रचयिता
शानू दीक्षित,
प्राथमिक विद्यालय मोटेपुरवा,
ब्लॉक- नरैनी,
जनपद- बांदा
उत्तर प्रदेश ।।

No comments