Breaking News

जीवन पथ पर चलना सीखो

जीवन पथ पर चलना सीखो l
काटों पर भी रहना सीखो ll
सुख दुःख हौ जब रंग जमाते l
कभी हंसाते कभी रुलाते l
जीवन के सुंदर सपनों को,
कभी दिखाकर हमें लुभाते ll
बरबस मत हरषाना सीखों l
जीवन पथ पर चलना सीखो,
कांटो पर भी रहना सीखो ll
दिन है आते रात है जाती l
जीवन की गाथा कह जाती ll
समय क्षणिक है इसको मानो l
साथ समय के बढ़ना जानो,
रुक-रुक मत चलना सीखो ll
जीवन पथ पर चलना सीखो l
काटों पर भी रहना सीखो ll

रचयिता
स्व0 श्री कृष्ण किंकर मिश्र
पूर्व बेसिक शिक्षक
प्रा0वि0टेकवार, बांसगांव
जनपद - गोरखपुर

No comments