Breaking News

उठो साथी

तुम्हारा आचरण हर कर्म का उपमान हो जाये
तुम्हारा हर कदम माँ भारती की शान हो जाये
उठो साथी कलम लेकर करो कुछ सर्जना ऐसी
तुम्हारा लेख इस युग की अमिट पहचान हो जाये
- पुष्पेन्द्र 'पुष्प'

No comments